PCS-J परीक्षा की तैयारी कैसे करें

How To Prepare PCS-J इन इंडिया, जरूर पढ़ें यह काम के सूत्र

pcsj exam

अगर आप न्यायिक सेवा में जाना चाहते हैं तो पीसीएस-जे परीक्षा इसका सबसे प्रमुख माध्यम है। इस परीक्षा की तैयारी को लेकर तमाम तरह के सवाल मन में रहते हैं। हम आपको बता रहे हैं कि यह परीक्षा मुश्किल जरूर है लेकिन नामुमकिन नहीं है। जरा सी एकाग्रता के साथ आप भी इस परीक्षा का क्रैक कर सकते हैं।

पीसीएस जे के लिए पढ़ाई का कोई खास तरीका नहीं है। अपनी क्षमता के हिसाब से जितना चाहें, उतने समय तक पढ़ाई करें। एलएलबी की अपनी किताबें जरूर पढ़ें। यह काफी मददगार होंगी। इसके अलावा आपको रोजाना हिंदी और अंग्रेजी माध्यम के दो से तीन अखबार पढ़ना चाहिए। इससे आपकी जनरल नॉलेज (सामान्य ज्ञान) मजबूत होगी। जनरल नॉलेज का महत्व न केवल पीसीएस जे हैं बल्कि अगर आपको कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (क्लैट) या लॉ की अन्य प्रवेश परीक्षा देनी हैं तो उसके लिए भी आप काफी हद तक तैयार हो जाएंगे।

 

पीसीएस-जे तैयारी में इन बातों का रखें ख्याल

-जितना ज्यादा हो सके एलएलबी के बेसिक क्लियर करें। इंटरनेट पर कई लॉ ब्लॉग चलते हैं, जिन पर पल-पल की अपडेट आती है। यह लॉ की अपडेट आपके लिए बेहद कारगर होंगी। प्री क्वालीफाई करने के बाद जब मेंस एग्जाम में बैठोगे तो यह नए लाइव लॉ ब्लॉग आपके बहुत काम आएंगे। इसके अलावा इंटरव्यू में भी आप अपडेटेड जानकारी के साथ बैठेंगे तो ज्यादा आसानी होगी। बेयर एक्ट भी तैयारी में काफी कारगर हो सकता है।

-पीसीएस-जे क्वालीफाई करने के लिए सबसे ज्यादा सेल्फ स्टडी जरूरी है। जितना बुक्स पढ़ेंगे, उतना ही फंडे क्लियर होंगे।

-अगर आप 12वीं के बाद लॉ करना चाहते हैं तो आप कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (क्लैट) जरूर दें। इस परीक्षा को पास करने के बाद आप देश के सर्वश्रेष्ठ नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में दाखिला ले सकते हैं।

-अगर आप लॉ कर रहे हैं और आपका लक्ष्य पीसीएस-जे की परीक्षा है तो आप पढ़ाई के दौरान ही तैयारी शुरू कर दें।

-अलग-अलग अखबारों के संपादकीय पढ़ने से आप विभिन्न विचारों को समझ पाएंगे और देश और दुनिया के बड़े मुद्दों पर आपके विचार भी विकसित होंगे।

-न्यायिक सेवा की प्रतियोगी परीक्षा राज्य स्तर पर आयोजित होती है। अलग-अलग प्रदेशों के परीक्षा पाठ्यक्रम में भिन्नताएं होती हैं। कभी-कभी कुछ परीक्षाएं एकदम आसपास की तिथियों पर होती हैं। कुछ प्रदेशों में तो स्थानीय भाषा की परीक्षा अलग से भी होती है, जैसे गुजरात, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल आदि राज्य। वहीं, कुछ राज्यों में स्थानीय विधि के ज्यादातर सवाल प्रारंभिक एवं मुख्य परीक्षा में पूछे जाते हैं। ऐसे में अपनी प्राथमिकताएं तय करें तथा चयन करें कि किस प्रदेश या किन प्रदेशों की परीक्षाएं आपके लिए महत्वपूर्ण हैं।

-वर्तमान परीक्षा परिपाटी के अनुसार प्रारंभिक परीक्षा तथा मुख्य परीक्षा के बीच काफी कम समय मिलता है। परीक्षा कार्यक्रम में ही तिथियां दे दी गई होती हैं। ऐसे में प्रारंभिक परीक्षा के साथ मुख्य परीक्षा की तैयारी भी करने की कोशिश करिए।

-जिस प्रदेश की परीक्षा देनी हो, उसके प्रदेश की पूर्व परीक्षाओं के प्रश्न पत्र जरूर हल करें। इससे आपको प्रश्न पत्र का पैटर्न मालूम होगा और आप परीक्षा के लिए सही तरीके से तैयार हो पाएंगे। प्रश्नों की पुनरावृत्ति भी होती है ऐसे में आपको कई सवाल वही मिलेंगे जो आपने पढ़ा होगा।

-सामान्य अध्ययन तथा अंग्रेजी पर विशेष ध्यान दें। यूपी में पीसीएस-जे परीक्षा में सामान्य अध्ययन का पेपर 150 अंकों का होता है। जबकि शेष 300 अंकों में लॉ की परीक्षा होती है। इसी तरह मेंस में भी दोनों विषयों का काफी योगदान होता है। यह दोनों ही निर्णायक भूमिका अदा करते हैं।

 

पीसीएस-जे से जुड़े कुछ खास सवाल और उनके जवाब

एलएलबी प्रथम सेमेस्टर की छात्रा हूं। पीसीएस-जे की तैयारी कैसे कर सकती हूं?

-आपका कान्सेप्ट क्लीयर है, इसलिए आपको परेशानी नहीं होगी। आप अपनी लॉ की किताबों को अच्छे से पढ़ें। पीसीएस-जे के पुराने प्रश्न पत्र हल करने की कोशिश करें।

 

क्लैट की तैयारी कैसे करें? इसके बाद पीसीएस-जे में कैसे जा सकते हैं?

-क्लैट में कुल 200 प्रश्न होंगे। इसमें इंग्लिश कॉप्रिहेंशन, जनरल नॉलेज, करंट अफेयर्स, एलिमेंट्री मैथमेटिक्स, लीगल एप्टीट्यूड और लॉजिकल रीजनिंग के सवाल होंगे। सबसे ज्यादा फोकस जनरल नॉलेज और लीगल एप्टीट्यूड पर करें। इन दोनों से 50-50 अंकों के सवाल होते हैं। इसके बाद लॉजिकल रीजनिंग पर फोकस करें।

 

पीसीएस-जे की तैयारी के लिए कौन सी किताबें पढ़ सकते हैं?

-लॉ बैरेक्स पढि़ए। सीआरपीसी, एविडेंस, सीपीसी, आईपीसी की अच्छी जानकारी रखिए। एनसीक्यूएस के लिए ओपी त्रिपाठी की किताब पढ़ सकते हैं।

 

पीसीएस-जे मेंस में जीएस की तैयारी करने के लिए क्या करना चाहिए?

-जीएस को तीन भागों में विभाजित कर लें। इसमें आपसे भारतीय इतिहास, भूगोल, संस्कृति, राजनीति, मौजूदा राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मुद्दे, अर्थशास्त्र, अवार्ड, विज्ञान, स्पेस, तकनीक, कम्युनिकेशन से जुड़े सवाल पूछे जाते हैं। इनमें से ज्यादातर टॉपिक आप अखबार के नियमित अध्ययन करने से तैयार कर सकती हैं।

 

मुझे पढ़ाई के दौरान निगेटिव थिंकिंग आती है। इससे कैसे बचा जा सकता है?

-पहले यह तय करना होगा कि आप जो पढ़ रहे हैं, उसमें आपकी रुचि है या नहीं। अगर नहीं तो उसे छोड़ जिसमें आपका मन लगे उसे करने की कोशिश करें। जब आप मनपसंद पढ़ाई या काम करेंगे तो आपकी सोच भी बदल जाएगी।

 

पीसीएस-जे की और जानकारी के लिए क्लिक करें

3 thoughts on “PCS-J परीक्षा की तैयारी कैसे करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *