CAT के हीरो: पहले ही चांस में सीधे IIM-A

देहरादून की तान्या कटियार बनी बेटियों के लिए प्रेरणा, पहले ही चांस में मार लिया मैदान

dehradun asian school girl tanya katiyar cat result
Tanya With Her Parents

कॉमन एडमिशन टेस्ट में उत्तराखंड की राजधानी देहरादून की बेटी तान्या कटियार सबके लिए मिसाल बन गई है। अपना ग्रेजुएशन पूरा होने से पहले ही तान्या  ने कैट में बाजी मार ली। खास बात यह है कि पहले ही चांस में तान्या को सीधे आईआईएम अहमदाबाद का बुलावा आया है।

 

तान्या के पिता घनश्याम कटियार केनरा बैंक में जॉब करते हैं जबकि मां शबनम कटियार ओएनजीसी में कार्यरत हैं। तान्या की 12वीं तक की एजुकेशन देहरादून के एशियन स्कूल से हुई। इसके बाद उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कालेज में दाखिला लिया। इन दिनों वह रामजस कालेज से बीएससी स्टैटिस्टिक्स ऑनर्स कर रही हैं।

 

तान्या ने बताया कि उन्हें शुरू से ही कुछ अलग करने का जुनून था। इसलिए उन्होंने तय किया कि वह ग्रेजुएशन के बाद आईआईएम जाएंगी। आईआईएम से पढ़ाई पूरी करने के बाद तान्या का सपना देश के लिए कुछ करना है। उनका कहना है कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस तरह से देश को आगे बढ़ा रहे हैं, वह भी उनके साथ मिलकर देशहित में काम करना चाहती हैं।

 

रोजाना सात घंटे पढ़ाई

पहले ही बार में कैट क्रैक करने वाली तान्या का कहना है कि मुश्किल है लेकिन इंपॉसिबल कुछ नहीं है। तान्या के मुताबिक वह अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई के अलावा रोजाना कम से कम सात घंटे कैट की तैयारी को देती थी। सुबह तीन से चार घंटे, इसके बाद दिन में कालेज से आने के बाद दो से तीन घंटे का समय देती थी। खास बात यह है कि रात को सोने से पहले न्यूज पेपर जरूरी पढ़ती थी। तान्या ने कैट में 98.08 परसेंटाइल हासिल किया है। उन्होंने 12वीं में 94 परसेंट मार्क्स हासिल किए थे। तान्या ने कैरियर लांचर से कोचिंग की है। उनका कहना है कि यहां का स्टडी मटेरियल कैट की तैयारी को पर्याप्त है।

 

CAT और उससे जुड़ी सक्सेस स्टोरी के लिए यहां क्लिक करें

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *